मंत्र सिद्ध चैतन्य “पारद दुर्गा” :

माँ दुर्गा की महिमा से हम सभी परिचित है | महाकाली, महालक्ष्मी और महासरस्वती इसलिए इन्हें त्रिगुणात्मक शक्ति के नाम से भी जाना जाता है | प्रद दुर्गा की स्थापना एवं पूजा से शारीरिक विकार, कम, क्रोश, लोभ, मोह, अहंकार, आलस्य, राग, द्वेष, इर्ष्या का नाश हो बल बुध्दी, एवं साहस की प्राप्ति होती है | घर में पारद दुर्गा पूजन से किसी भी प्रकार के बाहारी बाधा जैसे टोन-टोटके, तंत्र बाधाओं का परिवार के किसी भी व्यक्ति पर कोई असर नहीं होता |

मात्र सिद्ध पारद दुर्गा रिद्धि-सिद्धि, धन-धान्य, पुत्र-पौत्र आदि प्रदान कर घर को सभी विपत्तियों से दूर रखती है | किसी भी प्रकार के कानूनी वाद-विवाद से रहत मिलती एवं दुश्मनों से भी सुरक्षा होती है | श्रद्धा एवं शक्तिभाव से प्रद दुर्गा का पूजन करने वाला नाना प्रकार के सुख भोग अन्त में मोक्ष प्राप्ति करता है |

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Parad Durga”

Your email address will not be published. Required fields are marked *